You are currently viewing Bihar News: प्रशासन छिपा रहा सच- जहरीली शराब से मौत के आंकड़ों की संख्या में हर दिन इजाफा
Bihar News: प्रशासन छिपा रहा सच- जहरीली शराब से मौत के आंकड़ों की संख्या में हर दिन इजाफा

Bihar News: प्रशासन छिपा रहा सच- जहरीली शराब से मौत के आंकड़ों की संख्या में हर दिन इजाफा

बिहार (Bihar Today News) में जहरीली शराब से मौत के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है वही सारण जिले में जहरीली शराब से मौत के मामले थमते नजर नहीं आ रहे हैं। इस मामले में लगातार चौथे दिन शनिवार यानि आज शराब पीने से 5 और लोगों की मौत की जानकारी सामने आई है जी हाँ यहां पांच लोगों की आज इलाज के दौरान मौत हुई। ये सभी अलग-अलग अस्पतालों में इलाजरत थे. इन पांच लोगों की मौत के साथ ही सारण में जहरीली शराब से मौत का आंकड़ा बढ़कर 67 पहुंच गया है।

Bihar News: प्रशासन पर लगा बड़ा आरोप

साथ ही बता दे की (Bihar Today News) छपरा के इसुआपुर से शुरू हुए मौत का आंकड़ा मसरख, मढ़ौरा, तरैया, अमनौर सहित बनियापुर से भी सामने आने लगा है। जिले में अभी तक 67 लोगों की मौत हो चुकी है। वही सदर अस्पताल सहित निजी क्लिनिक में अभी भी कई लोगों का इलाज जारी है। इधर प्रशासन पर आंकड़ों को छिपाने का बड़ा आरोप लगा है। जानकारी के अनुसार कई (Bihar News) पीड़ितों को पुलिस डरा-धमका कर या पैसों का लालच देकर शवों का बिना पोस्टमार्टम कराए दाह-संस्कार करवा रही है। कागजों पर इन मौतों का कारण ठंड बताया जा रहा है.

Bihar News: सभी मृतकों में एक जैसा लक्षण

छपरा (Bihar News) में जहरीली शराब से हुई सभी 67 मौतों में मृतकों का लक्षण एक समान बताया जा रहा है। उल्टी, पेट दर्द, आंख की रौशनी जाने के लक्षण पर लोगों को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया। जहां इलाज के दौरान लोगों की मौत होती गई। छपरा में मंगलवार की रात 5 लोगों की मौत हुई थी। बुधवार की शाम तक बढ़ते हुए संख्या 27 हो गई। वही गुरुवार सुबह मौत का आंकड़ा बढ़कर 49 पहुंच गई। शुक्रवार की सुबह मृतकों की संख्या 52 हो गई और शाम होते-होते संख्या बढ़कर 62 हो गई है। तो वही शनिवार सुबह-सुबह 5 और लोगों ने दम तोड़ दिया। मौत का आंकड़ा 67 हो गया है। इधर सारण के अलावा शुक्रवार को बिहार के दो और जिलों से कथित तौर पर जहरीली शराब से मौत के मामले सामने आए।

सरकार ने मुआवजा देने से किया इंकार

दूसरी ओर सरकार (Bihar Today News) ने जहरीली शराब से हुई मौत में मुआवजे से इंकार कर दिया है। शुक्रवार को विधानसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शराब पीने से हुई मौत मामले में मुआवजे का कोई सवाल ही नहीं उठता है। मृतकों के परिजन कानूनी पचड़े में फंसने के डर से दाह-संस्कार कर रहे हैं। इधर पुलिस भी परिजनों को डरा-धमकाकर दाह-संस्कार करवा रही है।

Leave a Reply